मार्क्सवाद 0

एम.एन. रॉय की मार्क्सवाद की आलोचना

भारत में मार्क्सवाद आंदोलन ने कुछ महत्वपूर्ण पार्टियों को जन्म दिया जो स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान और स्वतंत्रता के बाद भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते थे। मुख्य कम्युनिस्ट पार्टियां सीपीआई, सीपीआई (एम) और सीपीआई...

लोहिया के बौद्धिक संदर्भ क्या थे? 0

लोहिया के बौद्धिक संदर्भ

उत्तर:। लोहिया असली भारतीय समाजवादी विचारक थे। उनकी मौलिकता को उनके समाजवाद के मौजूदा समाजवादी सिद्धांत के केंद्रवादी धारणाओं और वैकल्पिक बनाने के उनके प्रयासों द्वारा चित्रित किया गया है। इस नए सिद्धांत को...

FST-01 SOLVED ASSIGNMENT 2018 3

FST-01 SOLVED ASSIGNMENT 2018

ASSIGNMENT (Tutor Marked Assignment) FST-01 SOLVED ASSIGNMENT 2018 Course Code: FST-01 SOLVED ASSIGNMENT 2018 Assignment Code: FST-1/TMA/2018 Max. Marks: 100 FST-01 SOLVED ASSIGNMENT 2018 1 Write a detailed account on the origin of agriculture and civilisation. 10...

शुष्क भूमि 0

वैज्ञानिक ज्ञान ने शुष्क क्षेत्रों, शुष्क भूमि और पहाड़ियों में कृषि को कैसे संभव बनाया है?

उत्तर: – शुष्क क्षेत्र में बियर और अनार और फलों के पेड़ जैसे उबाऊ (किकर), प्रोसोपिस (मच्छर) और नीलगिरी (सफेदा) जैसे पेड़ पैदा करने के लिए काफी गुंजाइश है। ऐसे क्षेत्रों में, आश्रय बेल्ट...

संसाधनों 0

प्राकृतिक संसाधनों की खोज के लिए नियोजित आधुनिक तरीकों का वर्णन करें?

उत्तर: – संसाधनों की खोज में जटिल तकनीकें शामिल हैं जो किसी विशेष संसाधन के भौतिक, रासायनिक और जैविक गुणों पर निर्भर करती हैं। आजकल, हमारे देश में, एयर रेफ्ट या स्पेसक्राफ्ट 9 (उपग्रह)...

पृथ्वी सूर्य 0

सूर्य की संरचना के प्रमुख पहलुओं और इसमें चल रही विभिन्न गतिविधियों पर चर्चा करें?

उत्तर: – सूर्य हमारे दृष्टिकोण से सबसे महत्वपूर्ण सितारा है। यह एकमात्र सितारा है जो काफी विस्तार से अध्ययन करने के लिए पर्याप्त है। सूर्य की भव्यता आंशिक रूप से इसके आकार की वजह...

विज्ञान और प्रौद्योगिकी 0

भारत में विज्ञान के विकास की बाधाएं

उत्तर: – विज्ञान और प्रौद्योगिकी- पिछले कुछ दशकों में भारत ने अपनी स्वतंत्रता के बाद से विज्ञान और प्रौद्योगिकी में प्रमुख कदम उठाए हैं और आज कृषि, कपड़ा, स्वास्थ्य देखभाल और फार्मास्यूटिकल्स से लेकर...

सभ्यता 1

कृषि और सभ्यता की उत्पत्ति

उत्तर: – कृषि और सभ्यता की उत्पत्ति: – मनुष्यों द्वारा कृषि का इतिहास हजारों वर्षों से पीछे आता है, और इसका विकास बहुत अलग जलवायु, संस्कृतियों और प्रौद्योगिकियों द्वारा संचालित और परिभाषित किया गया...

INTERNATIONAL BUSINESS ENVIRONMENT 0

CONCEPT AND RELEVANCE OF INTERNATIONAL BUSINESS ENVIRONMENT

INTERNATIONAL BUSINESS ENVIRONMENT I ꜱiꭑρlγ ꜱρꬴαĸinꬶ, ꬴnviꭈοnꭑꬴnƗ ꭈꬴꭍꬴꭈꜱ Ɨο οnꬴ‘ꜱ ꭑiliꬴꭒ οꭈ ꜱꭒꭈꭈοꭒndinꬶ.  In Ɨhꬴ cοnƗꬴꭗƗ οꭍ α ƅꭒꜱinꬴꜱꜱ ꭍiꭈꭑ, ꬴnviꭈοnꭑꬴnƗ cαn ƅꬴ dꬴꭍinꬴd αꜱ vαꭈiοꭒꜱ ꬴꭗƗꭈꬴꭑꬴlγ αcƗοꭈꜱ αnd ꭍοꭈcꬴꜱ ƗhαƗ ꜱꭒꭈꭈοꭒnd Ɨhꬴ ꭍiꭈꭑ...

MGY-001 SOLVED ASSIGNMENT 2017-18 0

MGY-001 SOLVED ASSIGNMENT 2017-18

MGY-001 SOLVED ASSIGNMENT 2017-18   Tutor Marked Assignment MGY-001: Introduction to Geoinformatics Course Code: MGY-001 Assignment Code: MGY-001/TMA/2018 Max. Marks: 100 Note:   * This assignment is based on the entire course. * It...

What was Lohiya’s intellectual context? Elaborate. 0

What was Lohiya’s intellectual context? Elaborate.

Ans. Lohiya was a real Indian socialist thinker. His originality is depicted by his challenge to the Eurocentric assumptions of the existing socialist theory and his efforts to build an alternative. This new doctrine...

What was Gandhi’s concept of Satyagraha? Explain. 0

What was Gandhi’s concept of Satyagraha? Explain.

Ans. The concept of Satyagraha is an important component of Gandhi’s theory of spiritual politics. It has generally been argued that Satyagraha, Gandhi’s method of non-violent resistance, is a method of conflict resolution. All...

Examine Jawarharlala Nehur’s views on socialism. 0

Examine Jawarharlala Nehur’s views on socialism.

Ans. Jawarharlala look at socialism in wider context. Jawarharlala said, “The world is essentially international today, although its political structure, lags behind and is narrowly national. For socialism to succeed finally it will have to...

error: Content is protected !!