Tagged: BHDLA-135 Answers

0

वर्तनी के नियमों को विस्तार से लिखिए। BHDLA-136 NOTES

वर्तनी, जिसे अंग्रेजी में ‘spelling’ कहा जाता है, एक भाषा में शब्दों को सही ढंग से लिखने की कला है। सही वर्तनी से ही एक भाषा का सुधार हो सकता है और सही संदेश...

0

सूचना प्रौद्योगिकी में हिन्दी भाषा के प्रयोग को सोदाहरण स्पष्ट कीजिए। BHDLA-135

सूचना प्रौद्योगिकी, जिसे आमतौर पर आईटी (Information Technology) के रूप में संदर्भित किया जाता है, आधुनिक समय की एक महत्वपूर्ण और अत्यंत अभिवृद्धिशील शाखा है जो ज्ञान और सूचना को प्रबंधित करने के लिए...

0

प्रयोजनमूलक हिन्दी के विविध रूपों पर विस्तार से चर्चा कीजिए। BHDLA-135

प्रयोजनमूलक हिन्दी, जिसे कई स्थानों पर सार्थक हिन्दी भी कहा जाता है, एक विशेष प्रकार की हिन्दी है जिसमें संदेश को सही और सुसंगत ढंग से साझा करने का मुख्य उद्देश्य होता है। इसे...

0

बैंकों में हिन्दी के प्रयोग पर प्रकाश डालिए। BHDLA-135

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 343 (1) के अनुसार हिंदी को भारत की राजभाषा घोषित किया गया है। इस धारा के अनुसार, संघ की सभी कार्यकारी और विधिक कार्यवाहियां हिंदी में या अंग्रेजी में या...

0

भाषण की शैलीगत विशेषताएँ बताइए। BHDLA-135 NOTES

भाषण एक मौखिक कला है। इसमें वक्ता अपने विचारों और भावनाओं को श्रोताओं तक प्रभावी ढंग से पहुँचाने का प्रयास करता है। भाषण की सफलता में वक्ता की भाषा शैली का महत्वपूर्ण योगदान होता...

0

प्रत्यय और शब्द निर्माण की प्रक्रिया को स्पष्ट कीजिए। BHDLA-135 NOTEES

प्रत्यय वे शब्द हैं जो दूसरे शब्दों के अंत में जुड़कर, अपनी प्रकृति के अनुसार, शब्द के अर्थ में परिवर्तन कर देते हैं। प्रत्ययशब्द दो शब्दों से मिलकर बनता है – प्रति + अय।...

error: Content is protected !!