Tagged: National Institute of Open Schooling

पाठ-20 -‘उनको प्रणाम’ कविता 0

पाठ-20 -‘उनको प्रणाम’ कविता

‘उनको प्रणाम’ कविता में कवि ने उन लोगों के प्रति आदर और सम्मान का भाव प्रकट किया है, जिन्होंने अपने जीवन में साहस, वीरता, उत्साह, परिश्रम, निष्ठा, और ईमानदारी के साथ संघर्ष किया है।...

पाठ 12 – इसे जगाओ 0

पाठ 12 – इसे जगाओ

इसे जगाओ कविता में समय पर सजग रहने और कार्य करने का महत्वपूर्ण संदेश है। कवि ने इस संदेश को प्रकृति के साथ जोड़कर एक सुंदर और भावपूर्ण रूप में प्रस्तुत किया है। ‘जागने’ और...

0

‘बीती विभावरी जाग री’ कविता

“बीती विभावरी जाग री” एक अद्भुत कविता है, जिसे जयशंकर प्रसाद द्वारा रचा गया है। इस कविता में दृष्टि एक सुंदर प्राकृतिक वातावरण, उसकी अनुपमता और मानव-प्राकृतिक संबंधों की अद्वितीयता की ओर होती है।...

error: Content is protected !!